माँ लक्ष्मी जी के 108 नाम

मां लक्ष्मी जी के 108 नाम: लक्ष्मी जी धन समृद्धि की देवी है। उनके अलग अलग नामों का जप करने से जीवन में धन – समृद्धि और भौतिक सुखों के साथ ही ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है। जीवन सुख-सुविधाओं में गुजरता है। व्यापार में वृद्धि होती है जीवन ऋण मुक्ति रहता है।

माँ लक्ष्मी जी के 108 नाम


1. अन्नपूर्णा – अन्न देने वाली
2. अब्जनाभ – कमलनाभ
3. अहल्या – गौतमी
4. अरुंधति – सूर्य की पत्नी
5. अम्बिका – माँ
6. अदिति – अनंत
7.  उमा – पार्वती
8. अक्षयलक्ष्मी – अनंत लक्ष्मी
9. इंदिरा – सुंदरता की देवी
10. आयषी – समृद्ध
11. अक्षयश्री – अनंत श्री
12. ईश्वरी – ईश्वर की पत्नी
13. अक्षय – अनंत
14. कमला – कमल पर
15. एरण्डवती – करवी के पेड़ की देवी
16. कनकवर्धनी – सोने की वर्षा करने वाली
17. ओपदेवी – धन की देवी
18. ऐश्वर्या – समृद्धि
19. कनकलक्ष्मी – सोने की लक्ष्मी
20. उर्मिला – रावण की पत्नी  विराजमान
21. कालरात्रि – अंधेरी रात
22. धनवती – धनवान
23. किर्ती – यश
24. धनक्षेत्र – धन का क्षेत्र
25. क्षमा – क्षमाशील
26. कृपा – दया
27. कुबेर – धन के देवता
28. गजलक्ष्मी – हाथी पर विराजमान
29. धनदा – धन देने वाली
30. कुलदेवी – कुल की देवी
31. करुणा – दयालु
32. धन्वरिणी – धन देने वाली
33. नारायणी – विष्णु की पत्नी
34. धनलक्ष्मी – धन की लक्ष्मी
35. पद्मजा – कमल से उत्पन्न
36. पद्मालया – कमल के महल में रहने वाली
37. नंदिनी – नंदनवन की देवी
38. धनी – धनवान
39. नित्यलक्ष्मी – सदाबहार लक्ष्मी
40. पद्मा – कमल
41. धन्वाम्बिका – धन की माँ
42. धीरज – धीर
43. पुलिंदा – धारीदार वस्त्र पहनने वाली
44. पयोधरा – स्तनवती
45.प्रियदर्शिनी – प्रिय दिखने वाली
46. पद्मवती – कमल के समान सुंदर
47. पुष्टि – पोषण
48. प्रगति – प्रगतिशील
49. पुष्टिदा – पोषण देने वाली
50. पिंगला – पीली
51. पुष्कल – प्रचुर
52. प्रसन्न – प्रसन्न
53. यक्षि
54. भवानी – पार्वती
55. भद्रा – शुभ
56. ब्रह्मचारिणी – ब्रह्मचर्य का पालन करने वाली
57. भूमा – पृथ्वी
58. मृदुला – कोमल
59.महालक्ष्मी – महान लक्ष्मी
60. मंगला – मंगल
61. मातंगी – हाथी की सवारी करने वाली
62. महिषमर्दिनी – महिषासुर का वध करने वाली
63. मोहिनी – मोहक
64. ब्रह्मवती – ब्रह्म की पत्नी
65. यशस्विनी – यशस्वी
66. मोक्षदा – मोक्ष देने वाली
67. चंद्रमा – चंद्रमा के समान शीतल भुजाएँ 
68.अशोक  – दुखों को दूर करने वाली
69.कामाक्षी  – आकर्षक आंखों वाली
70. कांता  – विष्णु की पत्नी
71.प्रसादमुखी  – वरदान देने के लिए उभरने वाली
72.कमला  – कमल से निकलने वाली
73.करुणा  – दयालु
74.बुद्धि  – ज्ञान
75.पद्मालय  – कमल पर निवास करने वाली
76.वसुधा  – पृथ्वी
77.अनुग्रहप्रदा  – शुभकामनाओं को देने वाली
78. वाची  – अमृत जैसी वाणी
79.हीरामणी  – सुनहरा रूप
80.शुचि  – पवित्रता का अवतार
81. यशस्विनी – यशस्वी
82. प्रगति – प्रगतिशील
83.लोकमात्री – मां ब्रह्माण्ड का
84. भवानी – पार्वती
85. मोहिनी – मोहक
86. धनलक्ष्मी – धन की लक्ष्मी
87.सुधा  – अमृत
88.दित्या – प्रार्थनाओं का उत्तर
89. महालक्ष्मी – महान लक्ष्मी
90.स्वधा  – स्वधादेवी का आकार
91.सुरभि  – दिव्य प्राणी
92.विभूति  – ​​धन
93. हरिवल्लभी  – भगवान हरि की पत्नी
94. प्रकृति  – स्वभाव
95.आदित्य  – सूर्य के समान दीप्तिमान
96.विकृति  – स्वरूप
97. आयषी – समृद्ध
98.दीपा  – ज्वाला जैसी
99. चंद्रवंदना  – चंद्र-मुखी
100. विद्या  – बुद्धि
101. प्रसन्न – प्रसन्न
102. मृदुला – कोमल
103. दिप्ता – दीप्तिमान
104. स्वाहा  – स्वाहादेवी का आकार
105. श्रद्धा – समर्पित
106. विभा – दीप्तिमान
107. मोक्षदा – मोक्ष देने वाली
108. गजलक्ष्मी – हाथी पर विराजमान

जाने मां दुर्गा के 108 नाम

बटुक भैरव स्तोत्र

Author: Allinesureya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *