बागेश्वर धाम सरकार का दिव्य दरबार

बागेश्वर धाम सरकार के रूप में हम सभी जानते हैं, पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री मध्य प्रदेश में स्थित उनका बागेश्वर धाम सरकार के रूप स्थित हिंदुओ का पूजास्थल है। जो भगवान हनुमान जी के पूजा के लिए,तथा पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के कथा के लिए प्रसिद्ध है।

आज के हमारे इस लेख में हम जानेंगे इसी प्रसिद्ध भगेश्वर धाम सरकार के बारे में जानकारी जो की इस पोस्ट पर दी गई है। अगर आपको भी पहुंचना हो भगेश्वर धाम तो आप को कहा से पहुंचने होगा? यह सवाल सभी के मन में पहली बार आता है।

धीरेंद्र नाथ शास्त्री (धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री) कौन है?

पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले से है। उनका जन्म 4 जुलाई 1996 को हुआ था। पेशे से वे एक कथा वाचन है। उन्होंने यह काम बचपन से ही शुरू कर दिया था। यह उनके घर का माहौल था। उनके परिवार से सदस्य भी इसी कार्य में लगे हुए थे। जिससे उनके घर का माहौल भी पूजा पाठ के अनुरूप ही घूमा, जिनसे उनकी काफ़ी रुचि बढ़ी।

ॐ जाप के फायदे

राम मंदिर अयोध्या की कुछ जानकारी

धीरेंद्र शास्त्री अभी कहां है?

पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री हर जगह अपनी कथा करते हैं। तो इससे यह स्पष्ट हो जाता है कि वे एक जगह नहीं ठहरते। पर वे हिंदू तीर्थ स्थल में प्रमुख के रूप में कार्यरत हैं। जो कि बागेश्वर धाम सरकार के रूप में जाना जाता है। यह मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के गढ़ा गांव में भगवान हनुमान को समर्पित है, यह एक हिंदू तीर्थ स्थल  पीठाधीश्वर बागेश्वर धाम सरकार है। 

बागेश्वर बाबा किस लिए प्रसिद्ध है?

बागेश्वर बाबा के इतने प्रसिद्ध होने के बहुत से कारण है। वे अपने दर्शकों से अपने कथा वाचन में अद्भुत रूप से प्रस्तुत कर, अनोखा जुड़ाव रखतें हैं, जिस कारण से वे सभी लोगों में कुछ ही समय में ही बहुत प्रसिद्ध हुए हैं।

बागेश्वर धाम जाने के लिए कौन से स्टेशन पर उतरना पड़ता है?

ट्रेन से बागेश्वर धाम के लिए सबसे नजदीकी स्टेशन है जिसका स्टेशन का नाम खजुराहो रेलवे स्टेशन या छतरपुर रेलवे स्टेशन है। जिसके बाद कुछ दूरी आपको बस में तय करके आराम से यहां पहुंच सकते हैं।

बागेश्वर धाम कौन से जिला में स्थित है?

ऊपर आपने जाना बागेश्वर धाम मध्य प्रदेश में जिला छतरपुर, ग्राम गढ़ा, पोस्ट गंज में स्थित है।

बागेश्वर का पुराना नाम क्या है?

यह एक पवित्र स्थल है जहां भगवान शिव के व्याघ्र रूप लेने के कारण इस स्थान को व्याघ्रेश्वर कहा जाता था।बाद में इस जगह का नाम बदलता गया जो कालान्तर से बागीश्वर पड़ा तथा बाद ने फिर इसका नाम बदल कर बागेश्वर हो गया।

Author: Allinesureya

1 thought on “बागेश्वर धाम सरकार का दिव्य दरबार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *